मैजेंटा पावर ने भारत में अपनी सौर परियोजनाओं के लिये महिन्द्राब सस्टेसन (महिन्द्रा ग्रुप के एक अंग) के साथ गठबंधन किया


मैजेन्‍टा पावर, रिन्यूएबल  एनर्जी सॉल्‍यूशन्‍स और ईवी चार्जिंग इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर के क्षेत्र में एक अग्रणी कंपनी, ने महिन्‍द्रा ग्रुप के अंग ”महिन्‍द्रा सस्‍टेन” के साथ गठबंधन करने की घोषणा की है। यह सस्‍टैनेबल इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर और रिन्यूएबल  एनर्जी में  एक प्रतिष्ठित ब्रांड है। यह गठबंधन भारत में रिन्यूएबल  एनर्जी और क्‍लीन टेक स्‍पेस में विभिन्‍न सेवाओं को उपलब्‍ध कराने कि लिये किया गया है।


इस साझेदारी का उद्देश्‍य भारतीय बाजार की जरूरतों को पूरा करने के लिये सर्वाधिक उपयुक्‍त समाधानों की अवधारणा तैयार करना है। इस सहयोग की रूपरेखा में, मैजेन्‍टा पावर और महिन्‍द्रा सस्‍टेन (सीएनएल डिविजन) क्‍लीन एनर्जी को अपनाने के लिये तकनीकी समाधानों एवं रूफटॉप सोलर पावर इंस्‍टॉलेशन को विकसित करने के लिये संयुक्‍त रूप से काम करेंगे।


मैजेन्‍टा पावर के मैनेजिंग डायरेक्‍टर- श्री मैक्‍ससन लेविस ने कहा, ”महिन्‍द्रा सस्‍टेन के साथ काम करने की संभावना को लेकर हमें बेहद खुशी हो रही है, जो कि एक नामचीन सोलर पावर सॉल्‍युशन्‍स प्रदाता है। हमें विश्‍वास है कि इससे हमारे ग्राहकों को बेहद फायदा होगा और इसके परिणामस्‍वरूप उन्‍हें बेहद प्रतिस्‍पर्धी कीमतों में बेमिसाल उत्‍पाद गुणवत्‍ता मिल पायेगी। कुल मिलाकर, प्रमुख तकनीकी प्रदाताओं के साथ हमारा सहयोग, भारतीय सोलर स्‍पेस में हमारी स्थिति को सुदृढ़ करता है।”


श्री राकेश सिंह, सीईओ, सोलर बिजनेस, महिन्‍द्रा सस्‍टेन ने कहा, ”महिन्‍द्रा सस्‍टेन ने किलोवाट और मेगावाट पैमाने में परियोजनायें की हैं और इसकी बदौलत कंपनी ने भारत और केएसए में इनबिल्‍ट क्षमता को 1 गीगावॉट्स से अधिक कर लिया है। हालांकि, हमें विश्‍वास है कि रूपटॉप सोलर भारत में विकास का अभिप्रेरक है और रूफटॉप सेगमेंट में क्षमता को बढ़ाकर 2.7 गीगावॉट करने की योजना है। इस वृद्धि पहल को आगे बढ़ाने के लिये हम हमारे ग्राहकों को सेवायें प्रदान करने की हमारी योग्‍यता एवं हमारी पहुंच को बेहतर बनाने के लिये सही साझीदारों की तलाश कर रहे थे। हमें मैजेन्‍टा पावर के साथ साझेदारी कर खुशी हो रही है, जिनका क्‍लीन एनर्जी सॉल्‍युशन्‍स के लिये व्‍यावसायिक जोश एचं जुनून महिन्‍द्रा सस्‍टेन से मेल खाता है। हम भारत में प्रमुख राज्‍यों पर फोकस के साथ विभिन्‍न पहलों पर संयुक्‍त रूप से काम कर रहे हैं, जो भारत में सौर पहलों में अग्रणी है। हमें पूरा भरोसा है कि यह साझेदारी न सिर्फ हमारी संबंधित कंपनियों के लिये रूपटॉप सोलर को अपनाने में कारगर होगी, बल्कि हमारे पूरे देश को भी सौर ऊर्जा अपनाने में मदद करेगी।”


टीम ‘भारत में कुछ पहलों’ सहित खोजपरक समाधानों पर संयुक्‍त रूप से काम कर रही है और भारत में सोलर पावर स्‍पेस की अनूठी चुनौतियों का समाधान करने का प्रयास कर रही है। इस साझेदारी से कई अन्‍य घोषणायें भी किये जाने की उम्‍मीद है।


मैजेन्‍टा पावर का लक्ष्‍य निकट भविष्‍य में सहयोगी नवाचारों में निवेश कर तकनीक की सीमाओं को आगे बढ़ाना है। हाल ही में मैजेन्‍टा ईवी बिजनेस यूनिट के अंतर्गत, ब्रांड ने ग्रीन एनर्जी को सपोर्ट करने के लिये एचपीसीएल स्‍टाफ कॉलोनी (मुंबई) में ईवी चार्जिंग स्‍टेशन्‍स की स्‍थापना की है। इसका विस्‍तार करते हुये, मैजेन्‍टा ने मुंबई-पुणे एक्‍सप्रेसवे, बैंगलोर और हैदराबाद के बीच ईवी कॉरिडोर के साथ सहयोग भी किया है।


महिन्‍द्रा सस्‍टेन की 1.7 गीगावॉट्स की संस्‍थापित सौर परियोजायें भी है और 1.5 गीगावॉट की क्षमता को शामिल करने पर भी काम पहले से चल रहा है। भारत की पहली मोबाइल पीवी टेस्टिंग लैब जैसे खोजपरक समाधान के साथ, महिन्‍द्रा सस्‍टेन रिन्यूएबल  एनर्जी को आसानी से अपनाने के लिये इसे आगे बढ़ा रही है।


Popular posts from this blog

डोनाल्ड ट्रम्प की यात्रा के दौरान ताज महल को एक दिन के लिए जनता के लिए बंद कर दिया गया

चाईना पर सर्जिकल स्ट्राईक कब ... डा. शेख

सेक्टर के लिए सरकार की 4,558 करोड़ की योजना पर डेयरी फर्मों की रैली