लोकसभा चुनाव 2019 - चुनावी प्रचार ने नही पकडा जोर छाई है खामोशी


बुरहानपुर। लोकसभा चुनाव में खंडवा संसदीय क्षेत्र से चुनाव लडने वाले प्रत्याशीयों की तसवीर साफ होने के साथ ही यह साफ हो गया है कि यहां मुख्य मुकाबला भाजपा और कांग्रेस के बीच है


प्रमुख र्निदलीय प्रत्याशी जयश्री ठाकुर ने कांग्रेस प्रत्याशी अरूण यादव के समर्थन में अपना नामांकन वापस ले चुकी है, ऐसे में अब भाजपा और कांग्रेस पार्टी चुनाव मैदान में है लेकिन देखा यह गया है कि गुरूवार 2 मई को नाम निर्देशन पत्रो की वापसी के साथ चुनाव चिन्ह भी आवंटित होकर प्रत्याशी चुनावी जंग के मैदान में है


लेकिन दोनो ही पार्टीयों की ओर से चुनाव प्रचार में कोई गति नही देखने को मिल रही है, मतदान को 15 दिवस का समय बचा है ऐसे में भाजपा कांग्रेस के प्रत्याशीयों सहित स्थानीय नेताओं के द्वारा भी मैदान नही संभाला गया है जिस को देखते हुए राजनैतिक पंडित ऐसा मान रहे है कि दोनो ही पार्टीयों के प्रत्याशी क्षेत्र की जनता से भली भांति परिचित है


तथा पूर्व के चुनाव में जनता से खूब वादे किए लेकिन उन्हें पूरा नही कर पाने के चलते अब पुन: उन्हें मुंह दिखाने में शर्म महसूस करने के चलते वह प्रचार में गति नही ला पा रहे है, अगर ऐसा नही है तो फिर क्या कारण है कि दोनो ही पार्टीयों की ओर से प्रचार में कोई तेजी क्युं नही चुनाव का पूरा माहौल सुनसान है वार्डो में पार्षद भी खामोश है


इस को देखकर राजनैतिक पंडितो की यह अनुमान सही होता नजर आता है जब कि शासकीय मश्ररी चुनाव सम्पन्न कराने के लिए पूरी तरहां मुस्तैद है और इसी को देखकर लग रहा है कि लोकतंत्र के महापर्व के तहत 19 मई को मतदान होना है।


Popular posts from this blog

डोनाल्ड ट्रम्प की यात्रा के दौरान ताज महल को एक दिन के लिए जनता के लिए बंद कर दिया गया

चाईना पर सर्जिकल स्ट्राईक कब ... डा. शेख

सेक्टर के लिए सरकार की 4,558 करोड़ की योजना पर डेयरी फर्मों की रैली