जापानी छुट्टी पर काम को देते हैं तरजीह


जापान मे पिता बनने पर दी जाती है 6 माह की छुट्टी, कोई लेता नहीं
टोक्यो। पितृत्व अवकाश को लेकर जारी एक रिपोर्ट के मुताबिक कई अमीर देश पितृत्व अवकाश देने में कंजूसी बरत रहे हैं। अमेरिका, इजरायल, स्विट्जरलैंड में पिता बनने पर कोई छुट्टी नहीं दी जाती, जबकि जापान में स्थिति ठीक उलट है।


जापान में व्यक्ति को पिता बनने पर 6 महीने तक वेतन के साथ छुट्टी दी जाती है, लेकिन वहां कुछ लोग ही इसका इस्तेमाल करते हैं। 2017 में 20 में से केवल एक व्यक्ति ने ही पितृत्व अवकाश लिया। यूनिसेफ ने दुनिया के 41 अमीर देशों में पितृत्व अवकाश को लेकर स्टडी की। इसमें पहले तीन स्थानों पर एस्टोनिया, हंगरी और बुल्गारिया रहे।


एस्टोनिया में 595 दिन का, हंगरी में 504 और बुल्गारिया में 455 दिन का पितृत्व अवकाश दिया जाता है। न्यूजीलैंड, कनाडा और स्विटजरलैंड ऐसे देश हैं, जहां पिता बनने पर छुट्टी ही नहीं दी जाती है। इस स्टडी में इकोनॉमिक को-ऑपरेशन एंड डेवलपमेंट से डेटा लिया गया था।



काम के दबाव में नहीं ले पाते छुट्टी
स्टडी के अनुसार 3 साल से कम उम्र के बच्चों के साथ 45 फीसदी पुरुष कर्मचारियों ने कहा कि वे पितृत्व अवकाश नहीं लेना चाहते थे, जबकि 35 फीसदी ने कहा कि वे छुट्टी लेना चाहते थे, पर ले नहीं सकते थे। रिपोर्ट में प्रसव के तुरंत बाद पितृत्व अवकाश को परिभाषित किया गया और बताया कि यह मातृत्व अवकाश के रूप में महिलाओं के लिए उतना व्यापक रूप से उपलब्ध नहीं था। जिन 41 देशों का सर्वेक्षण किया गया, उनमें से केवल 26 ने ही पितृत्व अवकाश की पेशकश की, जबकि 40 देशों ने केवल मातृत्व अवकाश का समर्थन किया।



जर्मनी में बच्चे के जन्म के साथ 3 साल तक की छुट्टी
जर्मनी में मातृत्व एवं पितृत्व अवकाश की नीति विश्व में सबसे उदार मानी जाती है। यहां बच्चे के जन्म से तीन साल तक छुट्टी मिल सकती है। इनमें से केवल पहले 26 हफ्ते ही पूरे वेतन के साथ, जबकि बाद के 26 हफ्ते कम वेतन के साथ मिलती है। बाद के दो साल कोई वेतन नहीं मिलता लेकिन नौकरी बनी रहती है। भारत में पितृत्व अवकाश कुल 15 दिनों का होता है, जिसमें पिता बनने वाले नौकरी के दौरान इसका उपयोग दो बार कर सकते हैं।


Popular posts from this blog

डोनाल्ड ट्रम्प की यात्रा के दौरान ताज महल को एक दिन के लिए जनता के लिए बंद कर दिया गया

चाईना पर सर्जिकल स्ट्राईक कब ... डा. शेख

सेक्टर के लिए सरकार की 4,558 करोड़ की योजना पर डेयरी फर्मों की रैली