राहुल गांधी ने उठाया किसान आत्महत्या का मुददा, राजनाथ ने कहा आपकी सरकारें इसकी जिम्मेदार मोदी सरकार में किसान के हित के लिए कई कदम उठाएं

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने केरल में किसानों की खुदकुशी का मुद्दा उठाते हुए लोकसभा में कहा कि देश में अन्नदाताओं की स्थिति 'दयनीय' है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किसानों से जो वादे किए थे उन्हें पूरा करना चाहिए। इसके जबाव में रक्षामंत्री और सदन के उपनेता राजनाथ सिंह ने कहा कि किसानों की इस स्थिति के लिए लंबे समय तक रहीं सरकारें जिम्मेदार हैं। नरेंद्र मोदी सरकार ने किसानों के हित में कई कदम उठाए हैं।



लोकसभा में राहुल गांधी ने किसानों का मुद्दा उठाते हुए कहा कि उनके संसदीय क्षेत्र वायनाड में कर्ज की अदायगी नहीं कर पाने के कारण बुधवार को एक किसान ने खुदकुशी कर ली। केरल में पिछले डेढ़ साल में 18 किसान खुदकुशी कर चुके हैं। किसानों से कर्ज वसूली के लिए नोटिए दिए जा रहे हैं। केरल की सरकार ने कर्ज वसूली पर रोक लगाने का आग्रह किया था,लेकिन केंद्र सरकार ने रिजर्व बैंक से नहीं कहा। कांग्रेस नेता ने दावा किया कि पिछले पांच वर्षों में मोदी सरकार ने 5.5 लाख करोड़ बड़े उद्योगपतियों के माफ किए, लेकिन किसानों के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है।



राहुल ने कहा कि बड़े दुख की बात है कि आम बजट में किसानों को राहत देने के लिए कोई ठोस उपाय नहीं किए गए है। इसके जवाब में राजनाथ सिंह ने कहा कि किसानों की जो हालत है वो पिछले कुछ साल में नहीं हुई। इस हालत के लिए लंबे समय तक सरकारों में रहने वाले लोग जिम्मेदार हैं।



रक्षामंत्री ने कहा कि किसानों की खुदकुशी के सबसे ज्यादा मामले पहले की सरकारों के दौरान हुए है। हमारी सरकार ने किसानों की आमदनी दोगुनी करने सहित कई महत्वपूर्ण पहल की हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में सरकार बनने के बाद से किसानों के हित में कई कदम उठाए गए जिनमें सभी किसानों को सालाना 6000 रुपये देने का कदम शामिल है। सिंह ने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में किसानों की खुदकुशी के मामलों में कमी आई है। इसके बाद सत्तापक्ष और कांग्रेस के सदस्यों के बीच नोकझोंक देखने को मिली।


Popular posts from this blog

डोनाल्ड ट्रम्प की यात्रा के दौरान ताज महल को एक दिन के लिए जनता के लिए बंद कर दिया गया

चाईना पर सर्जिकल स्ट्राईक कब ... डा. शेख

सेक्टर के लिए सरकार की 4,558 करोड़ की योजना पर डेयरी फर्मों की रैली