राम मंदिर केस: भाजपा सांसद ने कहा, जरूरत पड़ी तो संसद में बनाएंगे कानून (11आरएस39ओआई)

नई दिल्ली। अयोध्या राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद पर सुप्रीम कोर्ट में गुरुवार को सुनवाई हुई। वहीं इस मामले को लेकर फैजाबाद के बीजेपी सांसद लल्लू सिंह को उम्मीद है कि सुप्रीम कोर्ट मंदिर मुद्दे पर जल्दी फैसला सुनाएगा। सांसद का कहना है कि जरूरत पड़ी तो इस मुद्दे को लेकर कानून बनाया जाएगा।


राम मंदिर के मसले पर फैजाबाद के सांसद लल्लू सिंह ने उम्मीद व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट मंदिर मुद्दे का जल्दी फैसला सुनाएगा। लल्लू सिंह का कहना है कि राम मंदिर हमारे लिए आस्था का विषय है और इस मामले पर अभी सर्वाेच्च न्यायालय में सुनवाई हो रही है। हम उम्मीद करते हैं कि कोर्ट जल्द फैसला करेगा।


अगर मध्यस्था से बात नहीं बनती है तो ऐसी स्थिति में तो जल्दी सुनवाई करके इस पर फैसला देना चाहिए। उन्होंने कहा कि जहां तक बात है मोदी सरकार की तो हमें बहुमत जरूर है। लेकिन यह मामला कोर्ट में है और हमें कोर्ट के फैसले का इंतजार करना होगा क्योंकि सुनवाई चल रही है। जहां तक मंदिर निर्माण की बात है तो हम इसके लिए कटिबद्ध हैं। लेकिन सुप्रीम कोर्ट से अनुरोध है कि इस पर जल्द से जल्द फैसला दें क्योंकि यह हमारे लिए महत्वपूर्ण विषय है। बहुमत की सरकार के बावजूद कई चीजों को ध्यान में रखना होता है। सर्वोच्च न्यायालय से अनुरोध है कि हमारी आस्था का ख्याल रखें और जल्द से जल्द इस पर फैसला दें।'



सांसद लल्लू सिंह का कहना है, 'प्रभु राम तारीखों का शिकार नहीं हुए हैं। भगवान राम तो देश में व्यवस्था बना रहे हैं। गरीबों के रूप केवट, निषाद लिए जो प्रभु राम ने किया, वही पीएम नरेंद्र मोदी कर रहे हैं। उम्मीद है जल्द सुप्रीम कोर्ट फैसला सुनाएगा। सबूत राम मंदिर के पक्ष में हैं। जब तक मामला सुप्रीम कोर्ट में है तब तक संसद के कानून की फिलहाल जरूरत नहीं है लेकिन जरूरत पड़ी तो कानून बनाया जाएगा। बता दें कि गुरुवार को हुई सुनवाई में इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने मध्यस्थता पैनल से रिपोर्ट मांगी है। १८ जुलाई तक ये रिपोर्ट सौंपी जानी है, जिसके बाद फैसला होगा कि इस मामले में रोजाना सुनवाई होगी या नहीं।


Popular posts from this blog

डोनाल्ड ट्रम्प की यात्रा के दौरान ताज महल को एक दिन के लिए जनता के लिए बंद कर दिया गया

चाईना पर सर्जिकल स्ट्राईक कब ... डा. शेख

सेक्टर के लिए सरकार की 4,558 करोड़ की योजना पर डेयरी फर्मों की रैली