मंदी की मारः 4 दिन बंद रहेगा टाटा मोटर्स का प्लांट

मुंबई। ऑटो सेक्टर में छाई मंदी की वजह से वाहनों का प्रोडक्शन आधा रह जाने के कारण टाटा मोटर्स ने अपने प्लांट में फिर से ब्लॉक क्लोजर का फैसला लिया है।


चार दिन यानि 28 से 31 अगस्त तक प्लांट के बंद होने की वजह से करीब 4500 कामगारों को घर बैठना होगा। अगस्त में दूसरी बार कंपनी को कामकाज रोकना पड़ा है। कंपनी के अधिकारियों का कहना है कि चिंता की कोई जरूरत नहीं है और सब कुछ जल्द ही टॉप गियर में आ जाएगा। टाटा मोटर्स के एक प्रवक्ता ने कहा, यह सभी ऑटोमोबाइल मेकर्स और दुपहिया वाहन निर्माताओं के लिए आम बात है। उन्होंने कहा कि ऐसा पहली बार नहीं है,


जब काम रोकना पड़ा हो। प्रवक्ता ने कहा,मोदी सरकार ने कई कदम उठाए हैं,जिससे ऑटो सेक्टर को प्रोडक्शन दोबारा से बढ़ाने में मदद मिलेगी। त्यौहारों का मौसम आ रहा है, जिस वक्त लोग आमतौर पर नई गाड़ियां खरीदते हैं। हम इस दौरान डिमांड में तेजी आने की उम्मीद कर रहे हैं। प्रवक्ता ने कहा कि पूरा पिंपरी चिंचवाड़ प्लांट बंद होने नहीं जा रहा। मेंटेनेंस डिपार्टमेंट,डिजाइन सेक्शन और कुछ दूसरे विभाग काम करते रहने वाले है।


बता दें कि ब्लॉक क्लोजर के दौरान वर्कर्स को आधे दिन की सैलरी मिलती है। 4500 वर्कर्स को न केवल घर पर बैठना होगा, बल्कि 5000 स्टाफ मेंबरों को भी फोर्स लीव पर जाना होगा। बता दें कि इससे पहले 5 अगस्त से 10 अगस्त के बीच भी टाटा मोटर्स को काम रोकना पड़ा था। वहीं, कंपनी की 3 सितंबर से 6 सितंबर के बीच भी काम रोकने की योजना है।


Popular posts from this blog

डोनाल्ड ट्रम्प की यात्रा के दौरान ताज महल को एक दिन के लिए जनता के लिए बंद कर दिया गया

चाईना पर सर्जिकल स्ट्राईक कब ... डा. शेख

सेक्टर के लिए सरकार की 4,558 करोड़ की योजना पर डेयरी फर्मों की रैली