नरेश गोयल के घर समेत कई स्थानों पर प्रवर्तन निदेशालय ने मारे छापे


नई दिल्ली। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने जेट एयरवेज केस में दिल्ली और मुंबई में कई स्थानों पर छापेमारी की।


जेट एयरवेज के संस्थापक नरेश गोयल के आवासीय परिसरों के साथ ही एक दर्जन से अधिक स्थानों की तलाशी ली है। जेट प्रिविलेज प्राइवेट लिमिटेड (जेपीपीएल) में एत्तेहाद एयरवेज के निवेश की ईडी जांच कर रही है। ईडी का मानना है कि 2014 में हुए इस निवेश के दौरान प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) का उल्लघंन किया गया होगा।


जेट एयरवेज पर 8,500 करोड़ से अधिक का कर्ज है। अगर कर्मचारियों की सेलरी को भी जोड़ लिया जाए तो यह आंकड़ा 11 हजार करोड़ के अधिक तक पहुंच जाता है। इससे पहले जेट एयरवेज के संस्थापक नरेश गोयल से गुरुवार को गंभीर धोखाधड़ी जांच कार्यालय (एसएफआईओ) ने पूछताछ की थी। आधिकारिक सूत्रों ने बताया था कि गोयल से यह पूछताछ जेट एयरवेज में 18 हजार करोड़ के कथित वित्तीय अनियमितताओं को लेकर की गई है। जेट एयरवेज अब ठप खड़ी है।



कॉरपोरेट मामलों के मंत्रालय ने जुलाई में जेट एयरवेज के मामले की एसएफआईओ जांच का निर्देश दिया था। बड़े पैमाने पर अनियमितता तथा कोष को इधर उधर करने का मामला सामने आने के बाद यह निर्देश दिया गया था। जेट एयरवेज का परिचालन अप्रैल से बंद है।


जेट एयरवेज ने गंभीर नकदी संकट के बाद 17 अप्रैल से अपना परिचालन रोक दिया है। इससे पहले मार्च में गोयल ने एयरलाइन के चेयरमैन पद से इस्तीफा दे दिया था, फिलहाल जेट एयरवेज दिवाला एवं शोधन अक्षमता संहिता के तहत दिवाला प्रक्रिया में है।


Popular posts from this blog

डोनाल्ड ट्रम्प की यात्रा के दौरान ताज महल को एक दिन के लिए जनता के लिए बंद कर दिया गया

चाईना पर सर्जिकल स्ट्राईक कब ... डा. शेख

सेक्टर के लिए सरकार की 4,558 करोड़ की योजना पर डेयरी फर्मों की रैली