फास्ट फूड का सर्वाधिक असर हमारी नींद पर  -चिड़चिड़ापन और सुस्ती घेर लेते हैं शरीर को 


नई दिल्ली। फास्ट फूड खाने के इन परिणामों से हम सब वाकिफ हैं, लेकिन फिर भी अपनी आदतें सुधार नहीं पा रहे हैं। जबकि फास्ट फूड को छोड़ने के इतने फायदे हैं कि अगर एक बार इनसे पूरी तरह रूबरू हो जाएं तो लंबे समय तक शरीर को किसी भी तरह के नुकसान का सामना नहीं करना पड़ेगा। फास्ट फूड छोड़ने के बहुत से फायदे होते है।  


फास्ट फूड का सेवन करते हुए हमें इस बात का बिल्कुल भी अंदाजा नहीं लगता कि इसका असर हमारी नींद पर सीधे तौर पर पड़ रहा है, जबकि जंक फूड और फास्ट फूड खाने की वजह से हमें सबसे ज्यादा नींद से समझौता करना पड़ता है। दरअसल, जंक फूड शरीर के न्यूरोकेमिकल प्रोसेस को बिगाड़ देते हैं, जिसकी वजह से नींद खराब होने लगती है।


चिड़चिड़ापन और सुस्ती भी शरीर को पूरी तरह से घेर लेते हैं, जबकि जंक फूड से दूरी बना लेने के बाद सबसे पहला फायदा नींद का होता है, क्योंकि हमारा न्यूरोकेमिकल प्रोसेस बिल्कुल ठीक और सुचारू रूप से चलने लगता है, इसलिए सुकून भरी नींद भी आने लगती है। फास्ट फूड बाकी अंगों की तरह त्वचा को भी नुकसान पहुंचाते हैं। शरीर में हार्मोन के असंतुलन का खामियाजा त्वचा को भी झेलना पड़ता है।


मतलब, आपकी त्वचा कितनी भी चमकदार क्यों न हो, हार्मोन के असंतुलन के कारण समय से पहले त्वचा पर लकीरें आ ही जाएंगी। दाग-धब्बे भी त्वचा की खूबसूरती कम करने में कोई कसर नहीं छोड़ते हैं। फास्ट फूड के नियमित सेवन से हमारा वजन बढ़ता है, यह तो सब जानते हैं। पर फास्ट फूड से पीछा छूटेगा तो वजन सबसे पहले कम होगा, इसका एहसास कम ही लोगों को होता है।


फिर कम वजन का सकारात्मक असर दिल व धमनियों की सेहत पर पड़ेगा और दिल की बीमारियों से दूरी बनी रहेगी। दरअसल, किसी भी तरह के फास्ट फूड में सोडियम बहुत होता है, जो दिल की बीमारियों की वजह बनता है। पर इसकी लत छोड़ देने के कई और बेहतरीन फायदे भी होते हैं, जैसे टाइप 2 डायबिटीज का रिस्क बढ़ाने वाले शुगर का स्तर फास्ट फूड छोड़ने के साथ ही ठीक होने लगता है।


इसके अलावा फास्ट फूड में इस्तेमाल होने वाला तेल शरीर में कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ा देता है, तो अब आपको कोलेस्ट्रॉल र्की ंचता तो नहीं करनी पड़ेगी। फास्ट फूड या जंक फूड का सेवन हमारी सेहत के लिए ठीक नहीं है, यह तो आपने हजारों बार सुना होगा। पसंदीदा स्ट्रीट फूड और जंक फूड के ठिकाने अब इतने हैं कि इन्हें खाने के पसंदीदा अड्डे हर किसी के बन चुके हैं। मगर ये पसंदीदा ठिकाने स्वाद तो सर्व करते हैं, लेकिन स्वास्थ्य नहीं। यहां मिलने वाला फास्ट फूड धीरे-धीरे हमारे शरीर पर हमला करता चलता है और परिणाम में मिलती हैं ढेर सारी शारीरिक दिक्कतें।


Popular posts from this blog

डोनाल्ड ट्रम्प की यात्रा के दौरान ताज महल को एक दिन के लिए जनता के लिए बंद कर दिया गया

चाईना पर सर्जिकल स्ट्राईक कब ... डा. शेख

सेक्टर के लिए सरकार की 4,558 करोड़ की योजना पर डेयरी फर्मों की रैली