स्मोकिंग की लत हो रही खतरनाक -बच्चे और बुजुर्ग हो रहे अस्थमा के शिकार 


नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली में प्रदूषण के साथ ही धूम्रपान की लत खतरनाक साबित हो रही हे। बच्चे और बुजुर्ग हर कोई इस बीमारी की चपेट में आ रहा है।


ऐसे में लोगों की स्मोकिंग की लत इस बीमारी को और भी खतरनाक बना रही है। सिगरेट वैसे तो शरीर पर कई तरह से नुकसान पहुंचाता है लेकिन यह खासतौर से अस्थमा के लक्षणों को बढ़ावा देता है। जब आप तंबाकू इनहेल करते हैं तो इसके कण सांस की नली में नमी के साथ चिपक जाते हैं। इन कणों की वजह से मरीज को बार-बार अस्थमा का अटैक आता है। सांस की नली में बाहरी कणों को रोकने के लिए छोटे-छोटे रेशे होते हैं।


इन्हें सीलिया कहते हैं। तंबाकू सीलिया को भी नुकसान पहुंचाता है। ऐसे में बाहरी प्रदूषक तत्व आसानी से सांस की नली से लंग्स में पहुंच जाते हैं। अगर सिगरेट पीते हुए किसी और व्यक्ति के बगल में आप खड़े होते हैं तो उसका धुआं आप भी लेते हैं। इसे पैसिव स्मोकिंग या सेकंड हैंड स्मोकिंग कहते हैं। वास्तव में पैसिव स्मोकिंग और भी ज्यादा खतरनाक है क्योंकि इसमें स्मोकर द्वारा छोड़े गए धुएं को आप अंदर लेते हैं। इसमें अंदर लिए गए धुएं से ज्यादा खतरनाक तत्व मौजूद होते हैं।


जिसे पहले से अस्थमा है, उसके लिए यह खासा नुकसानदेह होता है। इससे अस्थमा अटैक बढ़ सकता है और मरीज को सांस लेने में तकलीफ हो सकती है। बता दें कि बीते दिनों ऐक्ट्रेस प्रियंका चोपड़ा की स्मोक करती हुई एक तस्वीर वायरल हुई जिसके लिए उन्हें काफी ट्रोल किया गया। प्रियंका पहले बता चुकी हैं कि वह अस्थमा से पीड़ित हैं। इसलिए स्मोक करने पर फैन्स उनपर भड़क गए। 


Popular posts from this blog

डोनाल्ड ट्रम्प की यात्रा के दौरान ताज महल को एक दिन के लिए जनता के लिए बंद कर दिया गया

चाईना पर सर्जिकल स्ट्राईक कब ... डा. शेख

सेक्टर के लिए सरकार की 4,558 करोड़ की योजना पर डेयरी फर्मों की रैली