बहरोड़ थाना हमला प्रकरण- पपला से बरामद राशि किसकी है, वसूली की या सुपारी की ?

अलवर। बहरोड़ थाने से एके -47 और अन्य खतरनाक हथियारों के दम पर छुड़वाए गए हरियाणा के कुख्यात अपराधी विक्रम उर्फ पपला गुज्जरसे बरामद की गई 31।90 लाख रुपए वसूली की थी या सुपारी की। पुलिस इसकी जांच में जुटी हुई है।


इस बीच अब तक की तफ्तीश में इस पूरे घटनाक्रम के तार अलवर जिले में सक्रिय दो अन्य से गैंगों से भी जुड़ते हुए नजर आ रहे हैं। पुलिस दोनों अन्य गैंगों के साथ ही हरियाणा की महाकाल गैंग में पिछले दिनों हुए घटनाक्रम की पड़ताल करने में भी जुटी है।



पुलिस की अब तक की तफ्तीश में सामने आया है कि हिस्ट्रीशीटर और बसपा के टिकट से बहरोड़ से चुनाव लडऩे वाले जसराम गुर्जर की गत 29 जुलाई को जैनपुर बॉस गांव में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। उस मामले में उसकी प्रतिद्वंदी लादेन गैंग के द्वारा जसराम गुर्जर की हत्या करने की बात (आरोप) सामने आई थी। इसके बाद जसराम गुर्जर गैंग ने बदला लेने के लिए सोशल मिडिया पर एक वीडियो भी वायरल किया था। पुलिस सूत्रों का कहना है विक्रम उर्फ पपला लादेन गैंग को मारने की सुपारी लेकर बहरोड़ से जा रहा था। इसी दौरान वह पुलिस के हत्थे च? गया था। इसलिए हरियाणा की महाकाल गैंग और पपला गैंग ने मिलकर बहरोड़ थाने एके-47 से हमला कर विक्रम उर्फ पपला को थाने से छुड़वाया।



जयपुर रेंज आईजी एस सेंगाथिर ने बताया की पुलिस महाकाल गैंग और जसराम गुर्जर हत्याकांड को भी इस मामले से जोडक़र देख रही है। पपला के पास जो नकदी मिली है जो वह संदिग्ध है। वह वसूली की भी हो सकती और सुपारी की भी। इसकी जांच की जा रही है। वहीं इस पूरे मामले पुलिस की लापरवाही और मिलीभगत की भी जांच की जा रही है।  पारदर्शिता के साथ राजस्व रिकॉर्ड के आधुनिकरण के कार्य को संपादित करें। त्रुटि रहित कार्य करने का प्रयास किया जाएं। डिजिटल इण्डिया लैण्ड रिकॉर्ड मॉडर्नाजेशन प्रोग्राम की प्रगति की समीक्षा करते हुए अतिरिक्त भू प्रबंध आयुक्त महेंद्र पारख ने कलेक्ट्रेट कॉन्फ्रेंस हॉल में आयोजित बैठक के दौरान यह बात कही।



इस दौरान पारख ने कहा कि बाड़मेर जिले में जिला कलेक्टर के निर्देशन में राजस्व कार्मिकों ने विगत 55 वर्ष की तरमीम के कार्य को कुशलता से संपादित किया है। यह कार्य पूर्ण होने वाला है। इसके लिए जिला कलेक्टर हिमांशु गुप्ता एवं राजस्व विभाग की टीम बधाई की पात्र है। जिला कलेक्टर हिमांशु गुप्ता की अध्यक्षता में आयोजित इस बैठक में अतिरिक्त भू प्रबंध आयुक्त महेंद्र पारख ने रिकॉर्ड आधुनिकरण कार्यक्रम की प्रगति की विस्तार से जानकारी लेते हुए आवश्यक निर्देश दिए।


उन्होंने डिजिटल इण्डिया लैण्ड रिकॉर्ड मॉडर्नाजेशन प्रोग्राम की आगामी कार्य योजना के बारे में जानकारी ली। इस दौरान बाड़मेर जिले की प्रगति की जानकारी देते हुए अवगत कराया गया कि 2 तहसीलों को ऑनलाइन किया जा चुका है। इसके अलावा 7 तहसीलों का कार्य भी लगभग समाप्त कर दिया गया है। अन्य तहसीलों का कार्य भी इन तहसीलों के ऑनलाइन होने के साथ-साथ समाप्त कर दिया जाएगा। इसके साथ ही ऑनलाइन रिकॉर्ड होने से काश्तकार ई मित्र कियोस्क एवं स्वयं


इन्टरनेट से भी अपने खेत के खसरे की सम्पूर्ण जानकारी मय नक्शा  प्राप्त कर सकेगा। बैठक में अतिरिक्त जिला कलेक्टर राकेश कुमार शर्मा, बाड़मेर उपखंड अधिकारी नीरज मिश्र समेत विभिन्न उपखंड अधिकारी एवं तहसीलदार उपस्थित रहे।


Popular posts