ई-सिगरेट पीने से महिलाओं में हो सकता है बांझपन का खतरा


न्यूयॉर्क। इन दिनों चलन में आई ई-सिगरेट यानी इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट के नुकसान पर अब चर्चा हो रही है


कि किस तरह यह सेहत के साथ-साथ दिल को भी नुकसान पहुंचाता है। लेकिन अब एक नई रिसर्च में पता चला है कि ई-सिगरेट की वजह से कम उम्र की महिलाओं में बांझपन का खतरा बढ़ता है।दरअसल, इन दिनों बड़ी संख्या में यंग और प्रेग्नेंट महिलाएं ई-सिगरेट को सेफ मानकर स्मोकिंग के लिए इसका इस्तेमाल कर रही हैं।


यूनिवर्सिटी ऑफ नॉर्थ कैरोलिना में हुई इस स्टडी के लीड ऑथर कैथलीन कैरून ने बताया कि, हमने अपनी स्टडी में पाया कि गर्भधारण से पहले अगर ई-सिगरेट का इस्तेमाल किया जाए तो फर्टिलाइज्ड भ्रूण का गर्भाशय में इम्प्लांटेशन देर से होता है, जिससे फर्टिलिटी घट जाती है।


इतना ही नहीं, स्टडी में यह बात भी सामने आयी कि अगर कोई महिला प्रेग्नेंसी के दौरान ई-सिगरेट का इस्तेमाल करती है, तो इससे होने वाले बच्चे की ग्रोथ, मेटाबॉलिज्म और लॉन्ग टर्म हेल्थ पर भी बुरा असर पड़ता है। ई-सिगरेट के असर को जानने के लिए इस स्टडी में चूहों का इस्तेमाल किया गया था।


Popular posts