सुराजी गांव योजना के लिए गांव-गांव जाकर एनजीओ की तरह काम करें अधिकारी-कलेक्टर


बिलासपुर। सुराजी ग्राम योजना के सफल क्रियान्वयन के लिए अधिकारियों को गांव-गांव जाकर लोगों से स्वयंसेवी संस्थाओं की तरह सम्पर्क करना चाहिए। यह बात कलेक्टर डॉ. संजय अलंग ने आज नरवा-गरुआ-घुरूवा-बारी योजना की समीक्षा बैठक में कही।



एनजीजीबी (नरवा, गरुवा, घुरूवा, बारी) योजना व बाड़ी विकास कार्यक्रम के क्रियान्वयन हेतु कलेक्टर की अध्यक्षता में जिला स्तरीय अलग-अलग समितियों का गठन किया गया है, जिसकी बैठक आज मंथन सभा कक्ष में रखी गई। बैठक में कलेक्टर ने नरवा विकास योजना के लिए दस-दस नालों का चयन कर डीपीआर बनाने का निर्देश दिया। जिले में प्रथम चरण में 97 ग्राम पंचायतों के 632 एकड़ क्षेत्र में गौठान निर्माण किया जा रहा है। इसके लिए मनरेगा और अन्य मदों से राशि खर्च की जा रही है। अब तक 71 गौठान पूर्ण कर लिये गये हैं।



बैठक में कलेक्टर ने गौठानों में चारागाह निर्माण की समीक्षा की। इन गौठानों के लिए 917 एकड़ में चारागाह विकसित किये जा रहे हैं, जिससे 75 हजार से अधिक पशुओं को चारा उपलब्ध हो सकेगा। 22 चारागाह पूर्ण कर लिये गए हैं और 75 का निर्माण प्रगति पर है।



पशु पालन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि चारागाहों में नैपियर घास, मक्का आदि हरे चारे उगाये जा रहे हैं। गौठानों में पशुओं के लिए प्रतिमाह 7200 टन सूखे चारे की भी आवश्यकता होगी। इस पर कलेक्टर ने निर्देशित किया कि अधिकारी गांवों में जाकर किसानों को प्रेरित करें कि वे गौठानों के सफल संचालन लिए पैरा उपलब्ध कराएं।    
कृषि विभाग की ओर से जानकारी दी गई कि घुरूवा विकास कार्यक्रम के तहत 97 ग्राम पंचायतों में 10 हजार घुरूवा का उन्नयन किया गया है। इनमें 25 हजार टन खाद का उत्पादन किया गया है।



उद्यानिकी विभाग ने बताया कि इन गांवों में 10 हजार 682 बाडिय़ों का विकास किया जा रहा है। अब तक एक हजार 40 बाड़ी पूर्ण कर लिये गए हैं। इन बाडिय़ों में किसानों ने विभाग द्वारा दिये गए बीज से लौकी, तुरई,बरबट्टी का उत्पादन किया है।
पेन्ड्रा जनपद पंचायत में चारागाह विकास की धीमी प्रगति पर जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी रितेश अग्रवाल ने असंतोष जताया और एक सप्ताह के भीतर चारे की बोआई पूरी करने का निर्देश दिया।



समीक्षा बैठक में अतिरिक्त कलेक्टर बी.एस. उइके, ,सहायक कलेक्टर देवेश ध्रुव, कृषि, पशुपालन, सिंचाई, उद्यानिकी विभाग के अधिकारी, गौठानों के प्रभारी अधिकारी, जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारी व अन्य उपस्थित थे।


Popular posts from this blog

डोनाल्ड ट्रम्प की यात्रा के दौरान ताज महल को एक दिन के लिए जनता के लिए बंद कर दिया गया

चाईना पर सर्जिकल स्ट्राईक कब ... डा. शेख

सेक्टर के लिए सरकार की 4,558 करोड़ की योजना पर डेयरी फर्मों की रैली