अयोध्या, 24 को अयोध्या जाएगा रामलला की कानूनी लड़ाई लड़ने वाले वकीलों का दल 

अयोध्या। राम मंदिर-बाबरी मस्जिद केस में रामलला विराजमान के पक्ष में कानूनी लड़ाई लड़ने वाले वकीलों का दल 24 नवम्बर को धार्मिक नगरी पहुंच रहा है। यह दल रामलला को सुप्रीम कोर्ट के आदेश की कॉपी पेशकर उनका आशीर्वाद प्राप्त करेगा।


इस दल में आखिरी समय में जोरदार पैरवी करने वाले वयोवृद्ध वरिष्‍ठ वकील के पराशरण और उनके दो दर्जन परिजन भी शामिल हैं। रामलला विराजमान के पक्षकार त्रिलोकीनाथ पांडे ने बताया कि अब तक उनके पास 42 सदस्यों के आने की सूचना है। यह संख्या उनके परिवार वालों को जोड़कर बढ़ सकती है। पांडे ने बताया कि वकीलों का दल रामलला का दर्शन करने के बाद सुप्रीम कोर्ट के फैसले की प्रति को अधिग्रहीत परिसर के रिसीवर और अयोध्या के कमिश्नर मनोज मिश्र को भी सौंपेगा।



पांडे ने बताया रामलीला की कानूनी लड़ने वाले दल का कारसेवकपुरम में विश्व हिंदू परिषद (विहिप) की तरफ से अभिनंदन किया जाएगा। अयोध्या के संत इन वकीलों को आशीर्वाद देंगे। रामलला के सखा पांडे ने कहा कि सभी मुस्लिम नेता फैसले के पहले एक ही रट लगाए थे कि कोर्ट का फैसला ही मानेंगे। अब जब कोर्ट का फैसला आया तो उसे मानने को तैयार नहीं हैं। वास्तव में कट्टरपंथियों की दुकानें बंद हो रही हैं।


सारी बौखलाहट इसी को लेकर है। पांडे ने कहा देश का आम मुसलमान कोर्ट के फैसले का सम्मान कर भाईचारा मजबूत करने की अपील कर रहा है, लेकिन कट्टरपंथी लोग मुस्लिम समाज को भ्रमित करने के लिए पुनर्विचार याचिका दायर करने जा रहे हैं। जिसके खिलाफ कई मुस्लिम नेता और पक्षकार भी खड़े हो रहे हैं। 


Popular posts from this blog

डोनाल्ड ट्रम्प की यात्रा के दौरान ताज महल को एक दिन के लिए जनता के लिए बंद कर दिया गया

चाईना पर सर्जिकल स्ट्राईक कब ... डा. शेख

सेक्टर के लिए सरकार की 4,558 करोड़ की योजना पर डेयरी फर्मों की रैली