भाजपा की सूची जारी, भोपाल से दिग्विजय के खिलाफ लड़ेंगी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर


भोपाल। लोकसभा चुनाव के मद्देनजर मध्य प्रदेश के लिए भाजपा ने एक और लिस्ट में जारी कर दी है। इसमें साध्वी प्रज्ञा ठाकुर भोपाल से भाजपा उम्मीदवार होंगी। इसके अलावा गुना से डॉ. केपी यादव, सागर से राज बहादुर सिंह और विदिशा से रमाकांत भार्गव को मैदान में उतारा हैं। साध्वी प्रज्ञा को भोपाल से भाजपा उम्मीदवार बनाए जाने की अटकलें काफी दिनों से चल रही थीं। बुधवार को उन्होंने भोपाल स्थित भाजपा दफ्तर पहुंचकर शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात की, जिसके बाद इन अटकलों ने एक बार फिर से जोर पकड़ लिया है।


मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री से मुलाकात के बाद साध्वी प्रज्ञा ने पत्रकारों से बातचीत में कहा, 'मैंने भाजपा की सदस्यता ले ली है और मैं चुनाव लड़ूंगी और जीतूंगी।' महाराष्ट्र के मालेगांव बम ब्लास्ट केस में आरोपी बनाए जाने के बाद सुर्ख़ियों में आईं साध्वी प्रज्ञा ठाकुर अपने बयानों से हमेशा चर्चा में रहती हैं। हालांकि उस केस में बरी होने के बाद उन्हें रिहा कर दिया गया था।
प्रज्ञा ठाकुर का मध्य प्रदेश की हॉट सीट भोपाल से चुनाव लड़ना तय होने के बाद भाजपा खेमे में सक्रियता बढ़ गई है।


बुधवार को साध्वी भाजपा कार्यालय पहुंचीं और पार्टी के नेताओं के साथ भोपाल दफ्तर में बैठक की। इस बीच साध्वी के भाजपा में शामिल होने पर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सवाल उठाए हैं। साध्वी प्रज्ञा ने मीडिया से बातचीत में कहा कि वह चुनाव लड़ेंगी और जीतेंगी। भोपाल भाजपा दफ्तर में साध्वी प्रज्ञा ने पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, रामलाल और प्रभात झा के साथ बैठक की। बताया जा रहा है कि बैठक में प्रदेश स्तर से लेकर केंद्र स्तर तक चर्चा हुई।



मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ से जब मीडिया ने साध्वी प्रज्ञा की भाजपा में एंट्री पर सवाल पूछा तो उन्होंने कहा कि साध्वी का भाजपा में शामिल होना पार्टी की मनोदशा को दिखाता है। साध्वी प्रज्ञा ने कहा मैं चुनाव लड़ूंगी और जीतूंगी भी। मेरे पास शिवराज सिंह चौहान का समर्थन है।
उल्लेखनीय है कि भोपाल सीट से दिग्विजय सिंह को टिकट मिलने के बाद से ही भाजपा खेमे में कोई मजबूत प्रत्याशी लाने को लेकर जद्दोजहद चालू हो गई थी। भोपाल सीट से भाजपा की तरफ से शिवराज सिंह चौहान, उमा भारती और नरेंद्र सिंह तोमर तक के नामों पर विचार किया गया। और अंतत: भाजपा नेतृत्व ने साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को इस सीट पर उतारा है।



साध्वी प्रज्ञा हिंदुत्व का बड़ा चेहरा मानी जाती हैं, इसलिए वह भोपाल सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह को कड़ी टक्कर देने में सक्षम हैं। यही नफा-नुकसान सोच कर भाजपा ने उन्हें भोपाल से टिकट दिया है। उनके भोपल सीट से प्रत्याशी होने के बाद भोपल सीट पर तेजी से ध्रुव्रीकरण होगा। सन 2008 में मालेगांव ब्लास्ट में आरोपी साध्वी प्रज्ञा को पिछले साल ही एनआईए कोर्ट ने सबूतों के अभाव में बरी किया है।



एक तरफ दिग्विजय सिंह पर 'हिंदू आतंकवाद' शब्द को जन्म देने और दिल्ली के बटला हाउस एनकाउंटर को फर्जी बताने का आरोप है, जिसमें इंडियन मुजाहिद्दीन के आतंकी मारे गए थे। उनके मुकाबले में भाजपा ने एक फायर ब्रांड चेहरा उतारा है। साध्वी दावा करती हैं कि वे नारे गढ़ने वालों को बेनकाब करने के लिए चुनावी राजनीति में उतरी हैं। उनका इशारा दिग्विजय सिंह की तरफ था, जिन्होंने साध्वी पर हिंदू आतंकवादी होने का टैग लगाया था। साध्वी ने कहा मेरी कुछ स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतें हैं, जिनके लिए दिग्विजय सिंह जिम्मेदार हैं। मैं कभी उन धब्बों को नहीं भूल सकती, जो उन्होंने मेरी जिंदगी पर लगाए हैं। 


Popular posts from this blog

डोनाल्ड ट्रम्प की यात्रा के दौरान ताज महल को एक दिन के लिए जनता के लिए बंद कर दिया गया

चाईना पर सर्जिकल स्ट्राईक कब ... डा. शेख

सेक्टर के लिए सरकार की 4,558 करोड़ की योजना पर डेयरी फर्मों की रैली